May 28, 2024

पावटा:(अजय शर्मा)

बालनाथ आश्रम में सोमवार को 108 कुंडीय रूद्र महामृत्युंजय यज्ञ के चतुर्थ दिवस पर यज्ञाचार्य डॉ. कमलेश शास्त्री द्वारा बावडी मंदिर महंत बस्तीनाथ जी के सानिध्य में आवाहित रत्न मण्डल देवों का पूजन क्रम समेत देव मण्डलों का हवन कर्म किया गया।

इस मौके पर महामृत्युंजय की शक्ति के रुप में जगत जननी मां दुर्गा की प्रसन्नता के लिए मार्कण्डेय पुराणान्तर्गत दुर्गा शप्तशली के मंत्रों द्वारा आहुतियां दी गई। यह महामृत्युंजय यज्ञ में भैरवी के रूप में एक शक्ति प्रतिकात्मक है जो मार्कण्डेय ऋषि शक्ति पाठ है, जिसमें 700 मन्त्रों एवं नवार्ण मंत्र की माला से सभी 108 कुंडीय यज्ञों में आहुतिया दी गई और दुर्गा के साथ भैरव अष्टोत्तर नामावली व श्री सुक्त हवन तथा क्षेत्रपाल बलिदान के साथ आरती कार्यक्रम सम्पन्न किया हुआ। वहीं बड़ी संख्या में महिला पुरुषों ने यज्ञ की परिक्रमा की।