February 23, 2024

जयपुर पुलिस मुख्यालय में एलडीसी (क्लर्क) के पद पर था तैनात

पति-पत्नी में चल रहा था विवाद, पत्नी ने डीजीपी से की थी शिकायत

कोटपुतली:(संजय जोशी)

कस्बे के निकटवर्ती ग्राम महरमपुर निवासी एक पुलिसकर्मी ने बुधवार शाम भरतपुर के न्यु पुष्प वाटिका कॉलोनी स्थित स्वयं के ससुराल में खुद का गला रेत कर आत्महत्या कर ली।

प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त पुलिसकर्मी राजधानी जयपुर स्थित पुलिस मुख्यालय में एलडीसी (क्लर्क) के पद पर कार्यरत था। बताया जा रहा है कि उसने अपनी पत्नी से चल रहे विवाद के चलते चाकू से अपना गला काट लिया। गंभीरावस्था में घायल होने पर पत्नी समेत अन्य परिजनों ने उसे भरतपुर के आरबीएम अस्पताल पहुँचाया। जहाँ से गंभीरावस्था में उसे जयपुर रैफर कर दिया गया लेकिन रास्ते में ही उसने भरतपुर के हलैना के निकट दम तोड़ दिया। उक्त पुलिसकर्मी ने दो दिन पूर्व भी अपनी बुआ के घर पर आत्महत्या की नाकाम कोशिश की थी।

क्या है मामला :- इस सम्बंध में निकटवर्ती सरुण्ड थाना पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त पुलिसकर्मी निरंजन (31) पुत्र रामकरण बावरिया ग्राम महरमपुर का रहने वाला था। जो कि जयपुर पीएचक्यू में कार्यरत था। निरंजन की शादी विगत 18 नवंबर 2018 को भरतपुर की रहने वाली सुमन (28) के साथ हुई थी। किन्तु शादी के बाद से ही दोनों के बीच अनबन शुरु हो गई। जानकारी लगी है कि निरंजन 21 नवंबर को मथुरा में रहने वाली अपनी बुआ के यहां गया और वहां नुकीली चीज गले में घुसा ली थी।

इसके बाद उसे भरतपुर के आरबीएम अस्पताल लाया गया। जहाँ से पत्नी सुमन उसे अपने घर (निरंजन के ससुराल) ले गई। वहां बुधवार देर शाम को निरंजन बाथरूम में गया और वहां धारदार हथियार से अपना गला काट लिया। काफी देर तक निरंजन बाहर नहीं निकला तो सुमन ने अपने परिवार वालों को बुलाया। सुमन के पिता ने जब गेट खोला तो निरंजन बेहोश पड़ा था। उसे तुरंत आरबीएम अस्पताल पहुंचाया गया, जहां से उसे प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत में जयपुर रैफर कर दिया गया, किन्तु रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। मृत्यु के उपरान्त एम्बुलेंस चालक शव को वापस आरबीएम अस्पताल ले आया। जहाँ उसके शव को मोर्चरी में रखवा दिया गया। अचानक हुए घटनाक्रम से उसकी पत्नी की भी हालत खराब हो गई। जिसे भी उपचार के लिए आरबीएम अस्पताल में ही भर्ती करवाया गया है।

शराब पीने का था आदि :- बताया जा रहा है मृतक शराब पीने का भी आदि था। इससे पूर्व भी वह मंगलवार को यूपी की मथुरा पुलिस को शराब के नशे में धुत मिला था। जिस पर यूपी पुलिस ही उसे बुधवार तडक़े पत्नी के पास छोडक़र गई थी। चिकित्सकों के अनुसार सम्भवतया: मृतक ने शराब के नशे में धुत होकर ही गले में गहरा घाव कर लिया। जिसके चलते शरीर के अंदर व बाहर रक्त स्त्राव होने से उसकी मृत्यु हो गई।

अनुकम्पा में मिली थी नौकरी :- प्राप्त जानकारी के अनुसार निरंजन को उसके पिता का निधन होने के बाद अनुकम्पा में नौकरी मिली थी। चार वर्ष पूर्व शादी के बाद से ही वह गृह क्लेश से परेशान चल रहा था। मृतक के दो वर्ष की एक बेटी भी है।

दूसरी शादी की दे रहा था धमकी :- मृतक की पत्नी सुमन ने बताया कि वह उसे बार-बार परेशान करता था। उसे छोड़ देने और दूसरी शादी करने की धमकी भी दे रहा था। इसके बाद करीब 4 महीने पहले सुमन अपने पीहर भरतपुर चली गई तो निरंजन ने उसे खर्चा देना बंद कर दिया। सुमन ने हाल ही में इसकी शिकायत डीजीपी से कर दी तो निरंजन नाराज हो गया। संभावना है कि निरंजन ने पत्नी से नाराज होकर यह खौफनाक कदम उठा लिया। हालांकि पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है।