April 16, 2024

जयपुर-पत्रकारों पर निरंतर हो रहे हमलों वह पत्रकारों को आए दिन मिलने वाली धमकियों के विरोध में प्रिरियोडिकल प्रेस ऑफ इंडिया के बैनर तले गवर्नमेंट हॉस्टल चौराहा स्थित शहीद स्मारक पर विशाल धरने का आयोजन किया गया।


धरने के इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में पत्रकारों ने भाग लिया जिनमें प्रमुख रूप से न्यू इंडिया खबर के सन्नी आत्रे, तहलका न्यूज़ के प्रधान संपादक भरत शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार डॉ सुरेंद्र शर्मा, अनिल श्रीवास्तव, संजय त्रिवेदी, लक्ष्मीकांत पारीक, श्याम शर्मा, अचल दीप सिंह, मुकेश शर्मा, विजय पांडे, आदित्य भट्ट, भंवर चौहान, दिलीप परवानी, विनोद कुमार अरुण, तहलका न्यूज़ के कमल शर्मा, पंडित राजेश शर्मा, पंडित हरीश शर्मा, हर देवेंद्र गोविंद, गोपाल सिंह, निर्मल कुमार जैन, अभय सिंह चौहान, रितेश शर्मा, आदि अनेक पत्रकार उपस्थित रहे।


पत्रकारों की इस लड़ाई में सामाजिक संगठनों ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया जिनमें प्रमुख रूप से सर्व समाज विकास संस्थान के प्रदेश अध्यक्ष तोफान मीणा, प्रदेश महिला अध्यक्ष अनीता राजपुरोहित एवं भारतीय डाक कर्मचारी महासंघ एवं भारतीय मजदूर संघ ग्रामीण डाक कर्मचारी संघ के सचिव मालीराम स्वामी ने भाग लिया।


पत्रकारों ने अपना 11 सूत्री मांग पत्र जयपुर पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव को सौंपा जिसमें प्रमुख रुप से मांग की गई कि पत्रकार अभिषेक सोनी के परिवार को 1 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद के साथ उसके परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए। साथ ही पत्रकार सुरक्षा कानून शीघ्र बनाकर पत्रकारों को राहत प्रदान की जाए जिससे कि पत्रकार स्वतंत्र होकर अपने कार्य को अंजाम दे सके।

डिजिटल मीडिया के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए इसे सरकारी मान्यता दी जाए, गैर अधिस्वीकृत पत्रकारों के लिए मेडिकल डायरी के नियम में शिथिलता बरती जाए, गैर अधिस्वीकृत पत्रकारों के लिए भी पेंशन सुविधा शुरू की जाए आदि 11 सूत्री मांगों का ज्ञापन पुलिस कमिश्नर श्री आनंद श्रीवास्तव को सौंपा गया।
पी पी आई के अध्यक्ष ने कहा कि अगर 1 महीने में हमारी मांगों पर सहमति नहीं बनी तो एक माह बाद हम बड़ा धरना देते हुए आमरण अनशन पर बैठेंगे।

Tehelka.news